एडसेन्स क्या है: AdSense Kya Hai Aur Kaise Hota hai Approve

नमस्कार दोस्तों, आप ने पिछले पोस्ट में पढ़ा की ब्लॉग को सर्च इंजन में कैसे लाये Website Ko Search Engine Se Kaise Connect Kare। अब आपने लगभग सभी आवश्यक चीज़ो को पूरा कर लिया होगा। अगर आपने अपने वेबसाइट या ब्लॉग पर 5 बेस्ट क्वालिटी कंटेंट लिख लिया है तो आप एडसेन्स (AdSense) के लिए अप्लाई कर  सकते है।

इस पोस्ट में हम आपको एडसेन्स (AdSense) के बारे में कम्पलीट जानकारी देंगे। जैसे एडसेन्स क्या है (AdSense Kya Hai), एडसेन्स अकाउंट कैसे बनाये (AdSense Account Kaise Banaye), एडसेन्स को वेबसाइट से कनेक्ट कैसे करे (AdSense Ko Website Se Kaise Jode), अपने ब्लॉग को एडसेन्स में कैसे अप्रूव कराये (Blog Ko AdSense Me Kaise Approve Karaye), इत्यादि। तो दोस्तों पोस्ट को अंत तक पढियेगा जिससे कोई आवश्यक जानकारी छूट न जाये। तो चलिए जानते है एडसेन्स (AdSense) के बारे में।

एडसेन्स क्या है: AdSense Kya Hai?

एडसेन्स (AdSense) गूगल का एक एडवांस्ड पेमेंट सिस्टम (Advanced Payment System) है, जिसके माध्यम से गूगल यूट्यूब कंटेंट क्रिएटर, ब्लॉग या फिर वेबसाइट पर चलने वाले एड्स को मैनेज करता है और इसके साथ ही विज्ञापन के बदले पैसे देने का काम करता है।

एडसेन्स (AdSense) में पेमेंट (Payment) विज्ञापन के आधार पर जुड़ता रहता है और महीने के अंत में अगर आप 100 डॉलर कमा लेते है तो आपके बैंक अकाउंट में क्रेडिट कर देता है।

एडसेन्स साइन अप कैसे करें AdSense Signup Kaise Kare?

एडसेन्स (Adsense) अकाउंट बनाने के लिए आपके पास जीमेल अकाउंट होना आवश्यक है। जैसा की मैंने पहले ही कहा है की एक ही जीमेल अकाउंट का उसे आप सर्च कंसोल, एनालिटिक्स और एडसेन्स के लिए उसे करे। तो चलिए जानते है adsense को Signup करने का प्रोसेस।

  1. adsense.com पर विजिट करे।
  2. यहाँ आपको Sign Up Now का ऑप्शन मिलेगा जिसपे क्लिक करें।
  3. अब आपके सामने नया पेज खुलेगा जिसमे अपनी वेबसाइट का यूआरएल एंटर करना है इसके बाद आपको अपना जीमेल अकाउंट एंटर करना है। आप गूगल suggestion के ऑप्शन को एक्सेपट कर सकते है।
  4. इसके बाद आपको अपने जीमेल अकाउंट से signin करना है।
  5. इसके बाद अगर कोई बदलाव करना है तो चेंज दिस इन्फो पर क्लिक कर सकते है। उसके बाद आपको अपनी कंट्री चुनना है।
  6. इसके बाद आपको टर्म एंड कंडीशन को एक्सेपट करना है।
  7. और आपका एडसेन्स अकाउंट सफलतापूर्वक बन जायेगा।
  8. इसके बाद आपको अपना एड्रेस और फ़ोन नंबर की इनफार्मेशन देनी है।
  9. फ़ोन नंबर वर्फी करने के बाद आपको एडसेन्स कोड मिल जायेगा जिसे आपको अपने वेबसाइट के <head> </section> सेक्शन में  कोड को प्लेस करना है।

अब आपको वेट करना है आपके एडसेन्स अकाउंट के अप्रूव होने का। अगर आपने ओरिजिनल और इन्फोर्मटिवे कंटेंट लिख रखा है तो आप आसानी से एडसेन्स का अप्रूवल पा सकते है।

एडसेन्स पिन के लिए अप्लाई कैसे करें adsense pin ke liye apply kaise kare?

जैसे ही आपका अकाउंट अप्रूव हो जायेगा आपके वीडियो या वेबसाइट पर एड्स दिखने लगेगी। जैसे ही आपके अकाउंट में बैलेंस दिखने लगेगा गूगल आपको अपना पता वेरीफाई करने के लिए आपका पता मांगेगा जिसमे आपको अपना पूरा एड्रेस भरना है उसके बाद और सेंड पिन के लिए अप्लाई करना है। इसके बाद गूगल एडसेन्स दिए गए पते पर पिन भेजेगा और आपको पिन वारीफिकेशन के लिए उसे करना है।

कई बार पिन मिलने में टाइम लगता है तो आप पिन के रिप्लेसमेंट के लिए भी रिक्वेस्ट कर सकते है। इसके अलावा कई बार एड्रेस पर वारीफिकेशन पिन नहीं पहुँचता है तो आपको दूसरे मेथड से एडसेन्स को वेरीफाई करना पड़ता है। जिसमे आपको आइडेंटिटी प्रूफ और पैन डिटेल्स देनी पड़ती है। लेकिन ये प्रक्रिया पिन भेजने के कम से कम 4 से 6 हफ्ते बाद ही किया जा सकता है।

एडसेन्स से जुड़े हुए सवालों के जवाब (Adsense Se Jude Hue Sawalon Ke Jawab)

kya google adsense multi language hindi/english blog ko approval deta hai

गूगल एडसेन्स (AdSense) हिंदी और इंग्लिश (Hindi & English) दोनों ही भाषाओँ (multi language) के लिए ब्लॉग (Blog) को अप्रूवल (Approval) देता है। लेकिन आपको दोनों ही भाषाओँ के लिए अपने ब्लॉग का नया अलग अलग वर्शन बनाना चाहिए। अगर आपका मेन डोमेन एडसेन्स में अप्रूवड है तो आप हिंदी भाषा के लिए सब्डोमैन को यूज़ कर सकते है जिसके लिए आपको अप्रूवल की जरूरत नहीं होगी। और आप अपने ब्लॉग को और भी अधिक भाषावों में पब्लिश कर सकते है। और सभी पर एडसेन्स एड्स चलेंगी।

My adsense account disabled for Hindi website what is next?

एडसेन्स अकाउंट कभी भी लैंग्वेज के वजह से डिसएबल नहीं होता है। एडसेन्स के डिसएबल होने का मुख्या कारन गूगल एडसेन्स के प्राइवेसी और पालिसी को फॉलो नहीं करना है। गूगल एडसेन्स के डिसएबल होने के कई कारन है जिनमे से कुछ निचे दिए गए है।

  1.  इनवैलिड क्लिक्स (Invalid Clicks)
  2. इनवैलिड ट्रैफिक (Invalid Traffic)
  3. कॉपीराइट और डुप्लीकेट कंटेंट (Duplicate Content)
  4. इसके अलावा अगर आपकी वेबसाइट (Website) पर सोशल ट्रैफिक (Social Traffic) और डायरेक्ट ट्रैफिक (Direct Traffic) आता है और आर्गेनिक ट्रैफिक (Organic Traffic) नहीं आता है तो भी गूगल एडसेन्स (Google Adsense) एड्स सर्व नहीं करता है।

google adsense cpc kam hone ke karan hindi main

गूगल एडसेन्स पर CPC कम होने के कई कारण है जिनमे से कुछ निम्न है।

  1. कंटेंट क्वालिटी (Content Quality)
  2. कंटेंट निच (Content Niche)
  3. टाइप ऑफ़ ट्रैफिक (Type of Traffic)
  4. यूजर कूकीज (Cookies)
  5. लोकेशन (Location)

Difference Between Adwords and Adsense in Hindi

एडवर्ड (Adword) गूगल का एक ऐसा टूल है जिसके माध्यम से आप किसी वेबसाइट, वीडियो, या फिर सर्च रिजल्ट में अपने प्रोडक्ट की एड्स चला सकते है। वही गूगल एडसेन्स (Google Adsesne) एडवर्ड (Adword) से चलने वाले एड्स को किसी वेबसाइट या वीडियो या सर्च रिजल्ट में दिखाने और उसके बदले में पेमेंट क्रेडिट करने का काम करता है।

google adsense account approved (approval) ke bad kya kare

गूगल एडसेन्स के अप्रूवल के बाद (google adsense account approval ke bad) आपको अपने वेबसाइट के लिए कंटेंट लिखते रहना है और एडसेन्स से मिलने वाले कोड को ऐसे जगह पर लगाना है जहां पर लोगो का ध्यान ज्यादा जाता हो। इसके अलावा एडसेन्स के ऑटो ad कोड को जरूर इनेबल करदे। इससे गूगल अपने आप आवश्यक एड्स को सही जगह पर दिखायेगा।

adsense me blog par ads kyu nahi dikhta

ब्लॉग पर एडसेन्स एड्स न दिखने के कई कारन हो सकते है, जिनमे से कुछ निम्नलिखित है।

  • एडसेन्स एड कोड का सही से प्लेसमेंट न होना।
  • वेबसाइट का एडसेन्स से वेरीफाई न होना
  • कंटेंट की क्वालिटी का अच्छा न होना

kya mera google adsense account bna hua h ya nhi

गूगल एडसेन्स अकाउंट यूट्यूब, ब्लॉग, या फिर वेबसाइट के लिए बनता है। अगर आपको ये जानना है की आपका गूगल एडसेन्स अकाउंट बना है या नहीं तो आपको निम्न चीज़ो को फॉलो करें।

  • adsense.com पर विजिट करे।
  • अपने जीमेल (Google) अकाउंट से sign in करें
  • अगर आपका अकाउंट बना होगा तो सफलतापूर्वक आप एडसेन्स के होम पेज पर रेडिरेक्ट हो जायेंगे।

क्या Product Reviews website को Adsense approval मिलेगा की नही?

प्रोडक्ट रिव्यु वेबसाइट को एडसेन्स अप्रूवल आसानी से मिलेगा और ऐसी वेबसाइट पर CTR और Impression कॉस्ट अच्छा मिलता है इसलिए रिव्यु वेबसाइट एडसेन्स के साथ साथ एफिलिएट मार्केटिंग के लिए भी अच्छा है।